Must Read: शाओमी लाया बैटरी का बादशाह, 4100mAh बैटरी वाला रेडमी नोट 4 स्मार्टफोन इंडिया में हुआ लाॅन्च , कीमत ₹9,999 से शुरु
Phoneradar logo

भारत सरकार ने दो माह बढ़ाई स्मार्टफोन में पैनिक बटन होने की समय सीमा, नोटबंदी के चलते लिया निर्णय

जैसा कि हमने आपको पहले बताया था कि भारत सरकार ने सभी मोबाइल निर्माता कंपनियों से कहकर अपने स्मार्टफोन में महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एक पैनिक बटन लगाने के लिए कहा था। इसके लिए सरकार ने सभी कंपनियों को 1 जनवरी 2017 तक की समय सीमा दी थी। सरकार ने कहा था कि नए साल में लाॅन्च होने वाले सभी स्मार्टफोन में पैनिक बटन होना चाहिए। लेकिन अब मिली जानकारी के मुताबिक सरकार ने यह समय सीमा दो महीने बढ़ा दी है। ऐसा बताया जा रहा है कि मोबाइल कंपनियां नोटबंदी के चलते अपने पुराने स्टाॅक को ही बेच नहीं पाई है। इसी के चलते वे अभी भी अपने पुराने फोन ही बेचेगी जिनमें पैनिक बटन नहीं है।

टेलीकाॅम सेक्रेटरी जेएस दीपक ने इस मामले में पीटीआई को बताया कि “मोबाइल निर्माता कंपनियों की गुजारिश पर हमने नए स्मार्टफोन में पैनिक बटन लगाने की योजना को दो महीने आगे बढ़ा दिया है। कंपनियों का कहना है कि उनके पुराने स्मार्टफोन जिनमें पैनिक बटन नहीं है अभी तक बिके नहीं है। इसलिए इस समय सीमा को बढ़ाकर 28 फरवरी कर दिया गया है।”

भारत सरकार ने पिछले साल अप्रैल में घोषणा कर देश में सभी मोबाइल फोन में पैनिक बटन होना अनिवार्य कर दिया था। साथ ही यह भी कहा था कि 1 जनवरी 2017 से सभी स्मार्टफोन पैनिक बटन के साथ ही लाॅन्च होगें। पैनिक बटन की मदद से इमरजेंसी नंबर से काॅल कर आपातकालीन सर्विसों तक पहुंचा जा सकता है। इतना ही नहीं भारत सरकार ने यह भी निर्धारित कर दिया है कि 1 जनवरी 2018 से सभी मोबाइल हेडसेट सैटेलाइट आधारित GPS वाले होगें। जिससे की आपात स्थिति में लोगों तक उनके स्थान तक पहुंचा जा सके।

गौरतलब है कि देश में महिलाओं के साथ बढ़ती हिंसा आदि की घटनाओं के चलते एक ऐसा सिस्टम तैयार करने की मांग उठी थी जिसमें आपात स्थिति में फंसी महिला तक आसानी से पहुंचा जा सके और मदद की जा सके। जिसके बाद दिल्ली में हुए निर्भया गैंगरेप के बाद लोगों की मांग उग्र हो गई थी। इसके बाद ही स्मार्टफोनों में पैनिक बटन लाने का सुझाव तैयार किया गया था। इतना ही नहीं सरकार अमेरिका की 911 हेल्पलाइन की तर्ज पर ही देश में 112 हेल्पलाइन नंबर भी तैयार कर रही है। 112 नंबर से किसी भी तरह की आपातसुविधाओं तक पहुंचा जा सकेगा। अभी देश में पुलिस, एंबुलेंस, फायर आदि की अलग-अलग हेल्पलाइन नंबर है।

आपको बता दे कि इसी के चलते वनप्लस 3 स्मार्टफोन में भी एक अपेडट के बाद पैनिक बटन आय़ा था। इंडियन सेल्यूलर एसोशिएशन के नेशनल प्रेसिडेंट पंकज मोहिन्द्रो ने बताया कि “मोबाइल फोन निर्माता कंपनियों ने हर महीने करीब 2 करोड़ फोन में पैनिक बटन लाने के काम को बहुत गंभीरता से लिया है। इसके लिए इंडस्ट्री पूरी तरह तैयार है। इस मामले में नोटबंदी के चलते थोड़ी बहुत परेशानी आ रही है जिन्हें आने वाले 1-2 महीनों में हल कर लिया जाएगा।”


By Nitesh Rathore on Wednesday 4th of Jan 2017